Raipur breaking:हरियाणा-राजस्थान में दंगे भड़कने के बाद रायपुर पुलिस अलर्ट, शांति भंग करने वालों पर निगाह तो इंटरनेट पर बढ़ाई निगरानी

Toran Kumar reporter…4.8.2023/✍️

रायपुर। CG Election 2023 छत्तीसगढ़ में विधानसभा चुनाव नजदीक हैं। जिसके बाद अब रायपुर पुलिस के रडार पर शांति भंग करने वाले लोग हैं। इसमें अलग-अलग संगठनों से जुड़े कुछ लोग भी हैं, जो अक्सर इंटरनेट मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट डालते हैं। पूर्व में इस तरह से शांति भंग करने की घटनाओं में शामिल रहे हैं। पूर्व के अनुभवों को देखते हुए पुलिस यह सतर्कता बरत रही है। पुलिस ऐसे लोगों के साथ ही इंटरनेट मीडिया पर भी निगरानी कर रही है। हरियाणा के नूंह से शुरू हुए दंगे की आग पूरे हरियाणा और राजस्थान तक भड़क गई है। छत्तीसगढ़ में भी हिंदू संगठन इस घटना की निंदा कर रहे हैं। इसे लेकर पुलिस अलर्ट है। पूर्व में कवर्धा, बेमेतरा और रायपुर जिले में हालात तनाव पूर्ण थे, जिसको देखते हुए पूरी तरह से अलर्ट है।

दरअसल, विधानसभा चुनाव से जाति, वर्ग के नाम पर राजनीति चमकाने वाले, माहौल बिगाड़ने वाले सक्रिय हो जाते हैं। पुलिस अधिकारियों की चिंता बढ़ गई है। पुलिस ने ऐसे लोगों को चिन्हित किया है, जो माहौल बिगाड़ सकते हैं। इनकी गतिविधि से लेकर इनके इंटरनेट मीडिया प्रोफाइल की भी निगरानी हो रही है। एक दर्जन से ज्यादा ऐसे लोग हैं, जिनकी फेसबुक, इंस्टाग्राम प्रोफाइल पर अक्सर जाति और वर्ग को लेकर ही पोस्ट रहती हैं। इन पर विशेष निगाह रखी जा रही है।

विशेष टीम रख रही निगरानी :

फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम सहित अन्य सोशल मीडिया साइट्स पर भड़काऊ पोस्ट डालने वालों पर नजर रखने के लिए एंटी क्राइम एंड साइबर यूनिट की विशेष टीम बनाई गई है। सौ से ज्यादा पोस्ट हटवाए गए हैं। इनकी आइडी ब्लाक करने के साथ ही संबंधितों पर कार्रवाई भी की जा रही है। 25 लोगों को बुलाकर कार्रवाई की गई। वहीं फेसबुक में जाे फर्जी आइडी के माध्यम से पोस्ट डालते हैं उन्हें ब्लाक करवाने के लिए मेल किया जाता है।

इन टूल किट से निगरानी :

इंटरनेट मीडिया प्लेटफार्म पर नजर रखने के लिए 25 से ज्यादा टूल किट्स और साफ्टवेयर हैं। इनमें टेलविंड, यूनियन मैट्रिक्स आडियंस कनेक्ट, सोशल मैशन, टाकवाकर खाडर सोशल, ब्रांडवाच की हाल, की-वर्ड, डिजीमाइड आदि शामिल हैं।

इन बातों का रखें ध्यान:

साइबर क्राइम यूनिट इंटरनेट मीडिया पर धार्मिक पोस्ट, जातिगत पोस्ट, राजनीतिक पोस्ट और जनप्रतिनिधियों के नाम से अपलोड किए गए पोस्ट पर कार्रवाई कर रही है। पुलिस इस तरह के पोस्ट को फारवर्ड करने और कमेंट करने को भी संज्ञान में ले रही है।

रायपुर एएसपी (क्राइम) अभिषेक माहेश्वरी ने बताया कि साइबर की टीम लगातार निगरानी रख रही है। विवादित पोस्ट करने वालों पर कार्रवाई भी की जा रही। पोस्ट डालने वालों को बुलाकर पोस्ट को डिलीट करवाया जा रहा। साथ ही समझाइश दी जा रही। कुछ पर कार्रवाई भी की गई है।

Leave a Comment