Janmashtami 2023: आज है कृष्ण जन्माष्टमी, नोट करें पूजा का शुभ मुहूर्त और बाल गोपाल की पूजन विधि

Janmashtami 2023: हर साल भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाता है. इस दिन भगवान श्रीकृष्ण ने धरती पर अवतार लिया था और उनके जन्मोत्सव को देशभर में बड़ी धूमधाम के साथ मनाया जाता है. जन्माष्टमी के दिन भगवान कृष्ण के बाल स्वरूप लड्डू गोपाल (Laddu Gopal Pujan Vidhi) का पूजन किया जाता है और व्रत रखने की भी परंपरा है. पंचांग के अनुसार आज यानि 6 सितंबर को जन्माष्टमी का पर्व मनाया जा रहा हे. आइए जानते हैं इस दिन पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजन विधि.

जन्माष्टमी 2023 शुभ मुहूर्त
पंचांग के अनुसार भाद्रपद माह के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि आज दोपहर 3 बजकर 37 मिनट पर शुरू होगी और इसका समापन कल यानि 7 सितंबर को शाम 4 बजकर 14 मिनट पर होगा. ऐसे में गृहस्थ लोग आज यानि 6 सितंबर को जन्माष्टमी का व्रत रख सकते हैं. इस दिन पूजा का शुभ मुहूर्त रात 11 बजकर 57 मिनट से लेकर 12 बजकर 42 मिनट तक रहेगा. जन्माष्टमी के दिन रोहिणी नक्षत्र का विशेष महत्व माना जाता हे. जो कि आज सुबह 9 बजकर 20 मिनट पर शुरू होगा और कल सुबह 10 बजकर 25 मिनट तक रहेगा.

जन्माष्टमी पूजा विधि
जन्माष्टमी के दिन भक्त भगवान कृष्ण की कृपा पाने के लिए व्रत रखते हैं और लड्डू गोपाल यानि बाल गोपाल का पूजन करते हैं. जन्माष्टमी के दिन सुबह उठकर स्नान आदि कर स्वच्छ वस्त्र पहनें. फिर मंदिर की सफाई करें और लड्डू गोपाल की स्थापना करें. इसके बाद लड्डू गोपाल की स्नान कराकर नए वस्त्र पहनाएं और श्रृंगार करें. इसके बाद दिनभर व्रत करें और फलाहार का सेवन करें. ध्यान रखें कि जन्माष्टमी के दिन सूर्यास्त के बाद पानी ग्रहण नहीं किया जाता और रात को बाल गोपाल के जन्म के बाद पानी व प्रसाद ग्रहण किया जाता है. इस व्रत का पारण अगले दिन किया जाता है. मान्यता है कि जन्माष्टमी के दिन व्रत व पूजन करने से भगवान कृष्ण का आशीर्वाद मिलता है और सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं.

Leave a Comment