राजस्थान में मणिपुर जैसी हैवानियत, ससुराल के लोगों ने महिला को निर्वस्त्र करके घुमाया

जयपुर: देश में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराध के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. मणिपुर में महिलाओं के साथ हुए अत्याचार की घटना के बाद अब राजस्थान के प्रतापगढ़ जिले में हैवानियत की घटना सामने आई है. यहां एक गर्भवती महिला के ससुराल वालों ने उसे निर्वस्त्र कर सड़क पर दौड़ाया. घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद पुलिस हरकत में आई और मामले में जांच कर बताया कि पीड़ित महिला की साल भर पहले ही शादी हुई थी. इस बीच, दूसरे मोहल्ले में रहने वाला उसका प्रेमी महिला को अपने घर ले गया था जो महिला को भारी पड़ गया.

1 KM तक निर्वस्त्र घूमी महिला

पत्नी के दूसरे मोहल्ले में जाने की भनक मिलते ही उसका पति, ससुराल वाले और आसपास के लोग वहां पहुंच गए. इन लोगों ने गर्भवती महिला के साथ पहले मारपीट की और फिर उसे निर्वस्त्र कर करीब 1 किलोमीटर तक दौड़ाया. सोशल मीडिया पर घटना का वीडियो वायरल होने के बाद गहलोत सरकार और पुलिस एक्शन में आ गई. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दोषियों पर कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिया साथ ही पुलिस ने भी इस पूरी घटना में जल्द से जल्द न्याय दिलाने की बात कही.

समाज में ऐसे लोगों के लिए जगह नहीं

सीएम अशोक गहलोत ने एक्स पर पोस्ट किया कि प्रतापगढ़ जिले में पीहर और ससुराल पक्ष के आपसी पारिवारिक विवाद में, ससुराल पक्ष के लोगों द्वारा एक महिला को निर्वस्त्र करने का एक वीडियो सामने आया है. उन्होनें आगे लिखा, सभ्य समाज में इस तरह के अपराधियों की कोई जगह नहीं है. इन अपराधियों को जल्द से जल्द सलाखों के पीछे डालकर फास्ट ट्रैक कोर्ट में मुकदमा चलाकर सजा दिलवाई जाएगी.

जनता सरकार को सबक सिखाएगी

वहीं, मामले को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने ट्वीट किया. उन्होनें लिखा, प्रतापगढ़ का वीडियो चौंकाने वाला है इससे भी बुरी बात यह है कि राजस्थान में शासन व्यवस्था पूरी तरह से खराब है. मुख्यमंत्री और मंत्री झगड़ों को निपटाने में व्यस्त हैं. नड्डा ने आगे लिखा, इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि राज्य में महिला सुरक्षा के मुद्दे को पूरी तरह से नजरअंदाज किए जा रहे हैं, आए दिन महिलाओं के खिलाफ उत्पीड़न की कोई न कोई घटना सामने आती रहती है. राजस्थान के लोग राज्य सरकार को सबक सिखाएंगे

आरोपियों की तलाश जारी
डीजीपी उमेश मिश्रा ने कहा कि ये घटना बहुत ही बर्बरतापूर्ण है. इस घटना के बारे में स्थानीय पुलिस को शाम को पता चला. घटना का पता चलते ही पुलिस टीम ने तुरंत मौके पर पहुंचकर इसकी पूरी जानकारी ली और कानूनी कार्रवाई शुरू की. घटना में ससुराल पक्ष के जो भी लोग शामिल हैं उन्हें चिन्हित कर लिया गया है. धरियावद के थाना प्रभारी पेशावार खान ने बताया कि मामले में महिला के पूर्व पति काना सहित तीन लोगों को हिरासत में ले लिया गया ओर अन्य लोगों की तलाश की जा रही है.

Leave a Comment