गाजियाबाद में कुत्ते के काटने से 14 साल के बच्चे की तड़प-तड़पकर मौत हो गई। बच्चे ने अपने पिता की गोद में दम तोड़ दिया।

शेख इरफान रिपोर्ट..6/9/23✍️

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक 14 साल के बच्चे की कुत्ते के काटने की वजह से दर्दनाक मौत हो गई. करीब डेढ़ महीने तक बच्चे ने अपने माता-पिता से इस दर्द को छुपाए रखा, लेकिन जब हालात बिगड़े तो सारी सच्चाई सामने आ गई. रेबिज़ की वजह बच्चे की हालत खराब होती जा रही थी, इलाज के लिए मां-बाप कई जगह भटके लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ और अंत में 14 साल के मासूम ने दम तोड़ दिया.

गाजियाबाद के विजयनगर थाना क्षेत्र में मौजूद चरण सिंह कॉलोनी की ये घटना है, जहां सोमवार को 14 साल के शाहवेज की मौत हो गई. जानकारी के मुताबिक, शाहवेज को करीब डेढ़ महीने पहले पड़ोसी के पालतू कुत्ते ने काट लिया था, लेकिन उसने इसके बारे में घरवालों को नहीं बताया. कुछ दिन तक छुपाने के बाद जब उसे तकलीफ होने लगी, उसके बर्ताव में बदलाव आने लगा और बीमार होने लगा तब घरवालों को इसके बारे में पता लगा.

कई अस्पतालों ने वापस लौटाया

दरअसल, शाहवेज को रेबिज़ हो गया था जिसकी वजह से वह काफी बदल गया था. 1 सितंबर से ही उसने खाना-पीना छोड़ दिया था, जिसके बाद उसके माता-पिता उसे डॉक्टर के पास ले गए. घरवालों ने गाजियाबाद, दिल्ली और आसपास के कई अस्पतालों में अपने बेटे को दिखाया लेकिन उसका इलाज नहीं हो सका. अंत में जाकर उसे बुलंदशहर ले जाया गया, जहां आयुर्वेदिक डॉक्टर को दिखाया गया.

सोमवार को जब उसे बुलंदशहर लाया जा रहा था, तब एम्बुलेंस में ही उसकी मौत हो गई थी. परिवारवालों का रो-रोकर बुरा हाल है, इस मामले में पुलिस ने कुत्ते के मालिक के खिलाफ शिकायत भी दर्ज कर ली है.

गाजियाबाद हो या नोएडा, इन इलाकों में पिछले कुछ वक्त में पालतू और आवारा कुत्तों के मामले काफी ज्यादा बढ़ने लगे हैं. कभी किसी सोसाइटी में कुत्ता अटैक कर रहा है, तो कहीं लिफ्ट में बच्चों पर हमला हो रहा है. यही कारण है कि आम लोगों ने अब प्रशासन से भी हर जगह आवारा कुत्तों पर लगाम कसने की अपील की है.

Leave a Comment