Delhi: देर रात नाबालिग रेप पीड़िता से मिलने अस्पताल पहुंची स्वाति मालीवाल, डॉक्टरों ने रोका तो… वहीं बैठे धरने में….Video

नई दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज महिला एवं बाल विकास मंत्रालय में निदेशक के पद पर कार्यरत अधिकारी को निलंबित कर दिया। दरअसल, उस अधिकारी पर अपने मित्र की 12 वर्षीय बेटी से दुष्कर्म कर उसे गर्भवती करने का लगा है। मुख्यमंत्री मामले मुख्य सचिव से रिपोर्ट भी तलब कर चुके हैं। आरोपी से पूछताछ जारी है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पीड़िता के पिता का निधन साल 2020 में हो गया था। जिसके बाद वो आरोपी के घर में ही रह रही थी, लेकिन इस बीच मौके का फायदा उठाकर आरोपी ने पीड़िता के साथ एक बार नहीं, बल्कि कई बार दुष्कर्म किया। लेकिन, उसकी काली करतूतों का खुलासा तब हुआ, जब वो नाबालिग गर्भवती हुई

बताया जा रहा है कि आरोपी के खिलाफ कार्रवाई करने में उच्च स्तर पर कोताही बरती गई है। फिलहाल, आरोपी से पूछताछ की जा रही है। वहीं, पीड़िता की हालत काफी गंभीर बनी हुई है। डॉक्टरों की टीम उसका उपचार कर रही है। पुलिस ने अपनी ओर से बयान जारी बयान में आरोपी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है। आरोपी के खिलाफ पोक्सो सहित आईपीसी की गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। इस मामले के सामने आने के आम लोगों में आरोपी के खिलाफ आक्रोश देखने को मिल रहा है।

इस बीच दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल दिल्ली स्थित सेंट स्टीफन अस्पताल पहुंची। जहां उन्होंने अस्पताल प्रबंधक से पीड़िता से मिलने की मांग की, लेकिन डॉक्टरों उन्हें मिलने नहीं दिया, जिस पर स्वाति मालीवाल ने नाराजगी व्यक्त की।

Leave a Comment