CG.महासमुन्द पुलिस के द्वारा कैथोलिक चर्च बागबाहरा में फादर के साथ हुये लूट का खुलासा

Toran Kumar reporter..1.7.2023/✍️

महासमुन्द पुलिस के द्वारा कैथोलिक चर्च बागबाहरा में फादर के साथ हुये लूट का खुलाशा।
02 अंतर्राज्यीय लूटेरा गिरोह का पर्दाफाश।
आरोपियों के पास से 01 नग देशी कट्टा, लूटी गई रकम 50000 रूपये व घटना में प्रयुक्त जुपिटर स्कुटी जप्त।
आरोपियों को उत्तर प्रदेश के मेरठ व बागपत से किया गया गिरफ्तार।
आरोपियों कि पतासाजी के लिए थाना बागबाहरा एवं सायबर सेल की 03 अलग-अलग टीम लगातार 05 दिनों तक उत्तर प्रदेश व दिल्ली एवं विशाखापटनम् में करती रही रैकी।
आर

ोपी पूर्व मेें भी दे चूके है इस तरह के घटना को अंजाम।

दिनांक 18.06.2023 को घटना की सूचना पुलिस अधीक्षक श्री धर्मेन्द्र सिंह (IPS) को प्राप्त हुई पुलिस अधीक्षक द्वारा तत्काल पुलिस महानिरीक्षक रायपुर रेंज रायपुर श्री शेख आरिफ हुसैन (IPS) को घटना के गम्भीरता से अवगत कराया व पुलिस महानिरीक्षक द्वारा निर्देशित करने पर पुलिस अधीक्षक महासमुन्द श्री धर्मेन्द्र सिंह के द्वारा जिलें के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री आकाश राव , अनुविभागीय अधिकारी एवं थाना/चैकी प्रभारियों को अपने-अपने क्षेत्रांगर्त अज्ञात आरोपियों को पकड़ने हेतु नाकेबंदी करने निर्देशित किया गया। जिस पर क्षेत्रों में नाकेबंदी की कार्यवाही की गई तो घटना दिनांक को आरोपी का कोई पता नही चला। पुलिस अधीक्षक द्वारा घटना की गंभीरता को देखते हुये थाना बागबाहरा एवं सायबर सेल टीम को आरोपी की पता तलाश करने हेतु टीमों का गठन किया। सभी टीम को अलग-अलग दिशाओं में तकनीकि सहायता के मदद से आदतन अपराधियों के बारे में जानकारी एकत्र करने, शराब भट्टी के आसपास संदिग्ध व्यक्तियों में नजर रखने, सरहदी जिला एवं बार्डर से जानकारी एकत्र करने, घटनास्थल के आसपास के शहरवासिओं व राह गिरोह से पूछताछ करने का दायित्व दिया गया। टीम प्रभारियों को छोटी सी छोटी जानकारी एकत्रित कर अज्ञात आरोपियों तक पहुचने हेतु हरसंभव प्रसाय करने निर्देशित किया गया। सायबर सेल की टीम द्वारा मुखबीरों को सक्रिय कर एवं तकनीकी सहायता के मदद् से आरोपी के बारे में पतासाजी की जा रही थी।
इसी बीच मुखबीरों से टीम को सूचना प्राप्त होने लगी। मुखबीरों एवं आम जनता से प्राप्त सूचना की तस्दीक सायबर सेल की टीम द्वारा लगातार दिन-रात किया जा रहा था। पुलिस टीम को घटना स्थल छत्तीसगढ़ एवं ओड़िसा राज्य के सरहदी होने के कारण काफी परेशानी हो रही थी। इसी बीच मुखबीर से सूचना मिली की वकील अहमद खरियार रोड ओडिसा का रहने वाला जो प्रार्थी के बताये हुलियें के अनुसार संदिग्ध लग रहा है और भारी मात्रा में पैसा रखा है, सूचना पर संदेही वकील अहमद को पता तलाश कर रही थी जो मुखबीर से सूचना मिला कि वकील अहमद खरियार रोड ओडिसा को छोडकर अपने गांव बागपत उत्तर प्रदेश चला गया है। टीम के द्वारा वकील अहमद को ग्राम पांची जिला बागपत उत्तर प्रदेश में जाकर घेराबंदी कर पकड़ा गया। जिस पर संदेही ने अपना नाम (01) वकील अहमद पिता सईद अहमद उम्र 28 वर्ष सा. ग्राम पांची पोस्ट ढिलौली थाना चांदीनगर जिला बागपत, उत्तर प्रदेश हाॅल खरियार रोड ओडिसा में अपने परिचित शादाब खान के ठेकेदारी काम में मुंशी का काम करता है। जिसें पुलिस अभिरक्षा में लेकर पूछताछ किया गयां जिससे टूट गया और अपराध करना स्वीकार किया और बताया कि मेरे द्वारा एवं मेरे दो अन्य साथी आबिद व वाजिद उर्फ आबिद के साथ मिलकर अपराध करना स्वीकार किया। और बताया कि दिनांक 18.06.23 को मेरे जुपिटर स्कुटी से तीनों सुबह खरियाररोड से बागबाहरा आये एवं चर्च के आस पास घुम फिर कर वहाॅ के एवं आसपास के माहौल को देख रहे थे। वहा पर जब लोगो का आना जाना बंद हो गया एवं चर्च में सुनसान हो गया तब मौका देखकर तीनों चर्च के अंदर गये। जहा पर पादरी एक कमरे में कुर्सी में बैठे सो रहा था जिसको प्रेयर कराना है कहकर बोले तभी आबिद अपने पास रखे कट्टा निकालकर माथा में पादरी के माथा में टिका दिया एवं पादरी के हाथ पैर को कपडा एवं टेप से बांध दिये थे वकील एवं आबिद दोनो कमरा में रखे आलमारी को खोलकर रूपये ढुंढने लगे वहा पर बहुत सारा नगदी रकम मिला एवं पादरी के 02 नग मोबाईल को रख कर और कमरा का दरवाजा बाहर से बंद करके तीनों स्कुटी से भाग गये। खरियार रोड पहुंचकर मेरे कमरे में लूट के रकम का गिनती किये जिसमें 125000 रूपये था। उस रकम को हम तीनों आपस में बांट लिए। मुझे बटवारे में 40000 रूपये मिला था एवं आबिद को 40000 एवं वाजिद उर्फ आबिद ने 45000 रखा था। खरियार रोड ओडिशा से तीनों अलग-अलग दिशा से अपने-अपने घर चले गये।
पुलिस टीम के द्वारा आरोपी वकील अहमद के बताये अनुसार उसके साथी आरोपी (02) मोहम्मद आबिद पिता मुजफ्फर अली उम्र 27 वर्ष सा. ग्राम पांची पो.आ. ढिकौली थाना चांदीनगर जिला बागपत, उत्तर प्रदेश पहुच टीम के द्वारा आरोपी के घर में दबिश दिया जहाॅ उपस्थित मिला जिसे पुलिस अभिरक्षा में पूछताछ किया गया। जिसने भी आरोपी वकील अहमद बताये अनुसार बागबाहरा चर्च पादरी के घर अपने साथी वकील अहमद एवं वाजिद उर्फ आबिद तीनों मिलकर लूट करना तथा बटवारे में मिले कुछ नगदी रकम आने जाने खाने पीने में खर्च कर देना बताये तथा अपराध करना स्वीकार किया। आरोपी वकील अहमद एवं मोहम्मद आबिद के बताये अनुसार अन्य साथी आरोपी (03) वाजिद उर्फ आबिद मेरठ दिल्ली को पुलिस टीम के द्वारा तलाश किया गया जो घर पर नही मिला फरार होना पाया गया।
आरोपी मोहम्मद आबिद के कब्जे से 01 नग देशी कट्टा व लूट के हिस्से में मिले नगदी रकम 30000 रूपये एवं वकील अहमद के कब्जे से लूट के हिस्से में मिले नगदी रकम 20000 रूपये व 01 नग मोबाईल कीमती 10000 रूपये एवं घटना में प्रयुक्त जुपिटर स्कुटी कीमती 35000 रूपये कुल जुमला कीमती 95000 रूपये को जप्त कर आरोपियों के विरूध्द थाना बागबाहरा में अपराध क्रमांक 91/23 धारा 342, 397, 450 भादवि, 25, 27 आम्र्स एक्ट के तहत् कार्यवाही की गई

यह सम्पूर्ण कार्यवाही पुलिस अधीक्षक महासमुन्द धर्मेन्द्र (IPS) सिंह के मार्गदर्शन मे अति0 पुलिस अधीक्षक श्री आकाश राव एवं अनु0अधिकारी (पु) बागबाहरा श्रीमती मंजूलता बाज के निर्देशन में,थाना प्रभारी बागबाहरा उप निरीक्षक स्वराज त्रिपाठी, साइबर सेल प्रभारी नसीम उद्दीन खान,सउनि तिलक ठाकुर, प्रकाश नंद प्रआर. राजेश मिश्रा, सतीश शर्मा, मिनेश ध्रुव आर. रवि यादव, शुभम पाण्डेय, विकास चन्द्राकर, अभिषेक राजपूत, संतोष सावरा, चम्पलेश ठाकुर, विरेन्द्र नेताम, दिनेश साहू, डेविड चन्द्राकर, युवराज ठाकुर द्वारा की गई।

गिरफ्तार आरोपी –
(01) वकील अहमद पिता सईद अहमद उम्र 28 वर्ष सा. ग्राम पांची पोस्ट ढिलौली थाना चांदीनगर जिला बागपत, उत्तर प्रदेश हाॅल खरियार रोड ओडिसा
(02) मोहम्मद आबिद पिता मुजफ्फर अली उम्र 27 वर्ष सा. ग्राम पांची पो.आ. ढिकौली थाना चांदीनगर जिला बागपत, उत्तर प्रदेश
जप्त सम्पत्ति –
01 लूट का नगदी 50000 रूपयें।

  1. 01 नग देशी कट्टा।
  2. घटना प्रयुक्त 01 नग जुपिटर स्कुटी कीमती 35000 रूपये।
  3. 01 नग मोबाईल कीमती 10000 रूपये।

Leave a Comment