बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ दिल्ली पुलिस की 7 महिला अफसर करेंगी जांच, जानें FIR दर्ज करने से पहले क्या-क्या हुआ

Toran Kumar reporter..29.4.2023/✍️

धरने पर बैठे पहलवानों की याचिका पर दिल्ली पुलिस ने भारतीय कुश्ती महासंघ (Wrestling Federation Of India) के प्रमुख बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Singh) के खिलाफ यौन शोषण के मामले में FIR दर्ज कर लिया है. एक अधिकारी ने बताया कि पहली प्राथमिकी एक नाबालिग द्वारा लगाए गए आरोपों से संबंधित है. इस के तहत पॉक्सो अधिनियम समेत IPC की प्रासंगिक धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. वहीं, दूसरी प्राथमिकी शील भंग से संबंधित IPC की धाराओं के तहत शिकायतों की जांच के लिए दर्ज की गई है.

महिला अधिकारियों की टीम करेगी जांच

दिल्ली पुलिस के 7 महिला अधिकारियों को बृजभूषण शरण के खिलाफ दर्ज FIR की जांच में लगाया गया है. सातों महिला अधिकारी ACP को रिपोर्ट करेंगी. इसके बाद ACP DCP को रिपोर्ट करेगा. बृजभूषण शरण के खिलाफ FIR दर्ज करने के लिए नई दिल्ली डिस्ट्रिक्ट के करीब 10 इंस्पेक्टर को थाने में बुलाया गया था. इसके बाद कुश्ती महासंघ के प्रमुख के खिलाफ 2 FIR दर्ज की गईं हैं.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक आने वाले दिनों में दिल्ली पुलिस की जांच का दायरा विदेश तक भी जा सकता है, जहां पीड़ित रेसलर के साथ सेक्सुअल असॉल्ट हुआ था. वहीं भारत के हर उस स्टेट में भी पुलिस जा सकती है, जहां पर सेक्सुअल असॉल्ट होने की बात सामने आई है. FIR दर्ज करने से पहले दिल्ली पुलिस के कमिश्नर ने अधिकारियों को बुलाकर मीटिंग ली थी.

जेल जाने तक जारी रहेगा प्रदर्शन
धरने पर बैठे पहलवानों ने ऐलान किया है कि जब तक वह जेल नहीं भेजे जाते तब तक प्रदर्शन जारी रहेगा. पहलवान विनेश फोगाट ने कहा कि आज कोर्ट का फैसला आया है, लेकिन दिल्ली पुलिस पर हमें भरोसा नहीं है. हम 6 दिनों से बैठे हैं. दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर ही हमारा अगला कदम होगा. हमारी मांग है कि उन्हें (WFI अध्यक्ष बृजभूषण) जेल में डाला जाए. मेरी PM से नैतिकता के आधार पर अपील है कि उन्हें हर एक पद से हटाया जाए. जब तक वे उस पद पर रहेंगे वे उस पद का दुरुपयोग करेंगे और जांच को प्रभावित करेंगे. सुप्रीम कोर्ट पर हमें पूरा भरोसा है.

Leave a Comment